Wednesday, May 11, 2016

भाभी ने चोदना सिखाया

मेरा नाम दीपक कुलश्रेष्ठ है और मैं इस समय १८ साल का हूँ और मथुरा का रहने वाला हूँI मेरे परिवार में मेरे भैया, भाभी और मैं हूँI मेरे भैया पिछले करीब ५ साल से दुबई में जॉब करते हैंI इस समय केवल मैं और भाभी ही घर में रहते हैंI मैं आपको ज्यादा बोर न करते हुए अपनी कहानी पर आता हूँ जो १००% सत्य हैI

बात उस समय की है जब मैं ६ साल का थाI उस समय मेरे पिताजी का देहान्त हो गया था तो मेरी माताजी हम दोनों भाईओं की देखभाल करती थीI भैया की उम्र करीब १७ - १८ साल की थी और मेरी ६ साल थीI भइया बड़े होने के नाते परिवार का सारा बोझ भैया के कन्धों पर आ गया था इसलिए वह पढाई के साथ साथ टूशन भी पढ़ते थे जिस से घर का खर्च चलता थाI कुछ समय बाद आगरा से भइया का रिश्ता आया तो मैं और मेरी माँ बड़े खुश हुए और भैया की शादी हो गईI मेरी भाभी इतनी अच्छी थी  कि हम सभी की देखभाल बहुत ही अच्छी तरह से कीI मेरी माँ मेरे छोटे होने के कारण मुझे नहलाती थी और मेरे सारे बदन पर तेल मालिश भी करती थीI यह मेरी माँ की रोजाना की दिनचर्या थीI मुझे यह काफी अच्छी तरह से ध्यान है की एक दिन मेरी माँ की तबियत ख़राब होने के कारण वह सुबह के समय मुझे नहला नहीं पाई और न ही मेरे बदन पर तेल मालिश कर पाई तो भाभी ने मेरी माँ से कहा कि माँजी आप रहने दीजिये आज दीपक को मैं नहला दुँगी तो मेरी माँ ने कहा कि बहू मैं दीपक को नहलाने से पहले उसके सारे बदन पर तेल मालिश भी करती हूँ तो भाभी ने जवाब दिया कि हाँ माँजी मैं कर दुँगी तो माँ ने कहा की मैं उसकी छुन्नी पर  भी तेल लगाकर मालिश करती हूँ तू कैसे करेगी? तो भाभी ने जवाब दिया कि दीपक मेरे लिए बेटे जैसा है तो बेटे से कैसी शर्म? और उस दिन से भाभी ही मुझे नहलाती और मेरे सारे बदन पर तेल मालिश भी करती थीI उसके करीब १ साल बाद मेरे भैया की आगरा में जॉब लग गई तो हमारे दिन भी बड़े अच्छे से गुजरने लगेI भैया की जॉब के ६ महीने बाद उनकी मेहनत इस कदर रंग लाई कि उनको प्रमोशन मिल गयाI दिन बहुत अच्छी तरह से गुजर रहे थेI करीब दो साल बाद हमारे सिर से माँ का साया भी उठ गयाI माँ के गुजर जाने से हम दोनों भाइयों को बड़ा धक्का लगा हालाँकि मैं  छोटा था और मेरे सिर पर तो भैया भाभी का साया था पर भैया को बहुत अधिक धक्का लगाI इधर भाभी रोज मुझे नहलाती और मेरे बदन के साथ साथ मेरी छुन्नी पर भी तेल मालिश करती थीI जब मैं १० साल का था तो   एक दिन भाभी ने मुझसे कहा कि दीपक तेरी छुन्नी तो तेरे भैया के बराबर हो गई है तो मैंने कहा की भाभी अब आप मुझे मत नहलाया करो और न ही  मेरे बदन और मेरी छुन्नी की तेल मालिश मत किया करो क्योंकि अब मैं बड़ा हो गया हूँ अब मैं अपना काम खुद कर सकता हूँ तो भाभी ने डाँटते हुए कहा कि चुप रह कितना बड़ा हो गया है तू और मैंने तेरी छुन्नी को तेरे भैया के बराबर क्या बता दिया अपने आपको बड़ा समझने लगा क्यों? तेरी तेल मैंने की है और हमेशा मैं ही करुँगी समझेI उसके बाद से भाभी ही मेरी तेल मालिश करती और नहलाती थीI कुछ समय बाद भैया की जॉब दुबई में लग गई तो भैया दुबई चले गए तो यहाँ पर सिर्फ मैं और भाभी ही रह गए लेकिन भैया के दुबई जाने के बाद भी भाभी ने मेरी तेल मालिश और नहलाना बन्द नहीं किया बल्कि वो मेरी मेरी छुन्नी की मालिश करीब २० मिनट तक करने लगीI एक दिन की बात है रोजाना की तरह भाभी मेरी छुन्नी की मालिश करने के लिए निक्कर उतारा तो भाभी ने मालिश करते करते मुझसे कहा की दीपक तेरी छुन्नी की एक पप्पी ले लूँ तो मैंने कहा भाभी यह तो गन्दा है इसमें से तो सूँ सूँ निकलता है और कभी कभी पता नहीं गाढ़ा गाढ़ा कुछ निकलता है इसकी पप्पी लेने में घिन आएगी तो भाभी ने पूछा की तेरा बीज भी निकलने लगा? तो मैंने उनसे पूछा कि ये बीज क्या होता है? तो उन्होंने कहा की पगले बीज से ही तो बच्चा पैदा होता हैI तो मैंने कहा कि पता नहीं आप क्या कह रही हैं? तो उन्होंने मुझे समझाया कि ये जो तेरी छुन्नी जो एक अच्छा खासा लण्ड बन गई है जब ये चूत में जाकर बीज उगलता है तो ठीक ९ महीने बाद बच्चा हो जाता हैI मैंने कहा की भाभी मुझे समझ नहीं आ रहा है कि आप क्या कह रही हैं? तो   उन्होंने कहा कि चल मैं तुझे पूरी तरह समझाती हूँ कि ये सब कैसे होता है? कुछ देर बाद भाभी बिना कपड़ों के मेरे पास आई और बिस्तर पर लेटते हुए मुझे अपने पास बुलाया और कहा की देख ये है मेरी चूत जब इसमें तेरा लण्ड जायेगा और जब तू मेरी चूत में अपने लण्ड से धक्के लगाएगा तो तेरे लण्ड से बीज निकलकर मेरी चूत में गिरेगा तो मेरे पेट में उससे बच्चा बन जायेगाI अब आया समझ में बुद्धूरामI मैं तुझे प्रैक्टिकल करके बताती हूँ ये कहकर उन्होंने मेरा लण्ड अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीI भाभी की जीभ मेरे लण्ड पर लगते ही उसमें जैसे जान आने लगी और वो ५ मिनट में ही करीब ९" लम्बा और करीब ३" मोटा हो गया जो उनके मुंह में नहीं जा पा रहा था तो भाभी ने मुझसे कहा कि दीपक तू मेरी चूत चाट मैं एक आज्ञाकारी बच्चे की तरह उनकी चूत चाटने लगाI करीब २० मिनट तक चूत चाटने पर वो बहुत तेजी के साथ झड़ गई इधर मैं भी उनके मुंह में झड़ गया लेकिन उन्होंने मेरा लण्ड चूसना नहीं छोड़ा जिससे मेरा लण्ड दुबारा खड़ा हो गयाI कुछ देर भाभी ने मुझसे कहा कि देख दीपक तेरा लण्ड तेरे भैया से काफी बड़ा और मोटा है इसलिए मुझे तेरा लण्ड लेने में बहुत तेज दर्द होगा लेकिन तू तब तक नहीं रुकना जब तक की पूरा लण्ड मेरी चूत में न घुस जाये बेशक मैं कितनी भी चीखूँ चिल्लाऊं ओ0 के0I मैंने कहा ठीक है फिर उन्होंने मेरा लण्ड अपने हाथ से पकड़ कर अपनी चूत पर घिसा और थोड़ी देर बाद मुझे तेज धक्का मारने को कहाI मैंने पूरी ताक़त के साथ एक धक्का लगा दिया जिससे मेरा लण्ड सरसराता हुआ उनकी चूत में घुस गया लण्ड के घुसते ही उनके मुँह से एक जोरदार चीख निकल गई चीख सुनकर मैं डर गया और रुक गया तो भाभी ने रोते हुए मुझे गाली देते हुए कहा कि भोसड़ी के रुक क्यों गया? मैंने कहा कि भाभी आपको बहुत दर्द हो रहा है शायद तो वो बोली कि इससे तुझे कोई मतलब नहीं है तू सिर्फ धक्के लगा फिर मैं धीरे धीरे धक्के लगने लगा तो भाभी ने मुझसे कहा रुक लण्ड को चूत से बहार निकाले बिना पूरा बाहर खींच और दुगुनी ताक़त से जोर का धक्का मार मैंने ऐसा ही किया भाभी फिर से चीखने लगी लेकिन मैं इस बार रुका नहीं ३ - ४ जोरदार धक्कों से अपना पूरा लण्ड भाभी की चूत में डाल दियाI भाभी ने कहा कि दीपक अब रुक जा तो मैं रुक गया फिर उन्होंने समझाया कि अगर पूरा लण्ड घुसाए बिना लड़की पर रहम नहीं करना चाहिए क्योंकि फिर वो लड़की तुझसे कभी अपनी चूत नहीं मरवायेगी और ऊपर से नफरत और करेगीI अब तू एक काम कर पहले धीरे धीरे धक्के लगा फिर जब मैं बोलूँ धक्कों की स्पीड बढ़ा देना ओ0 के0I मैंने वैसा ही किया और करीब ५५ मिनट तक लगातार शताब्दी एक्सप्रेस की रफ़्तार से धक्के लगाए इस दौरान भाभी करीब 5 बार झड़ीI अंतिम समय में जब मेरा बीज निकलने वाला था तो मैंने भाभी से पूछा कि भाभी मेरा बीज निकलने वाला है तो भाभी ने कहा मेरी चूत में ही गिरा देI करीब मैंने ५ मिनट और धक्के मारे होंगे कि  मेरे लण्ड ने पिचकारी छोड़ दी मेरे साथ साथ भाभी भी झड़ गईI तब तक मैं और भाभी पसीने से पुरे भीग गए थे और बुरी तरह से हाँफ रहे थेI भाभी ने मुझसे कहा की दीपक वाकई तेरे लण्ड में बहुत दम है तेरी बीवी बहुत खुश रहेगी जैसे तूने आज मुझे खुश किया हैI तो दोस्तों आपको मेरी रियल कहानी कैसी लगी? मेल करके जरूर बताना ओ0 के0 कोई भी दोस्त मेरे लिए डिस्कस में कमेंट न करे सीधा मुझे मेल करेI मेरी मेल आई डी है

Rate This Story:

Contact Form

Name

Email *

Message *