Wednesday, March 19, 2008

Padosan Ko Choda

हाय!, मेरा नाम राकेश है मेरी उमर 22 साल है ये मेरी पहली कहानी है। ये कहानी तकरीबन 1 साल पहले की है। मेरी पड़ोस में एक लड़की रहती थी उसका नाम लीला था वो मुझसे 4-5 साल बड़ी थी। मैं एक दिन अपने घर पे अकेला था और उसके घर में भी कोई नहीं था। हम दोनो का घर एक दम पास में ही था दोनो के बीच में एक ही 
दीवाल थी। दोपहर के 12 बजे होंगे। मैं अपने घर में सो रहा था। उसने मुझे अपने घर में बुलाया और कहा। मैं गया तो वो बोली तुम यहां बैठो। मैने पूछा क्या काम हे वो बोली तुम्हारे घर वालो ने मुझे बोला था कि मैं तुम को दोपहर में अपने घर पे रखु। मेरे घर वाले लोग शादी में जाने की वजह से 2-3 दिन तक घर आने वाले नहीं थे तो तुम्हारी जिम्मेदारी मुझे सौंप कर गये है।

मैं इस वक्त सेक्स के बारे में कुछ भी नहीं जानता था उसने मुझे सोने को कहा लेकिन मैने सोने से इन्कार कर दिया और टीवी देखने लगा वो थोड़ी देर बाद बोली "मैं नहाने के लिये जा रही हूं अगर तुम्हे कुछ चाहिये तो मुझे बताना और अगर सोना हो तो सो सो जाना। मैने बोला "ठीक है"। अब वो नहाने के लिये जा चुकी थी। थोड़ी देर बाद उसने मुझे बुलाया बोली राकेश ज़रा मेरी पीठ तो मल दो मैं छोटा होने की वजह से इन सब के बारे मैं कुछ नहीं जानता था। उसने थोड़ी देर बाद मुझसे कहा तुम भी अपने कपड़े निकाल दो मैं बोला मैं सुबह नहाया था। वो बोली "फ़िर से" मैं बोला नहीं तो उसने मेरे को पकड़ कर ज़बरदस्ती मेरे कपड़े निकाल दिये और मेरा लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी थोड़ी देर तो मैं मना करता रहा मगर अब मुझे भी सब अच्छा लगने लगा था। उसने अब मुझे बाहर ले जाकर बिस्तर पर लिटा कर मेरे ऊपर चढ़ गयी और मेरे लंड को अपने मुंह में अन्दर बाहर करने लगी, मैं अब छूटने की तैयारी में था। थोड़ी देर बाद मैं जड़ गया। मैं समझ नहीं पा रहा था कि ये मेरे लंड से क्या बह रहा है। अब उसने मुझे अपने ऊपर बुलाया और कहा कि तुम करो। लेकिन वो मुझे क्या करने को कह रही थी ये मैं समझ नहीं पा रहा था। उसने कहा अपना लंड मेरी चूत में घुसाओ लेकिन मैं वो समझ नहीं पाया।
अगर आप आगे की कहानी जानना चाहते हो तो मुझे मेल करो ........... मेरा ई-मेल आईडी है rakesh.vaghela@yahoo.co.in

Rate This Story:

Contact Form

Name

Email *

Message *